Tuesday, 24 May 2016

देश की 10 महारानियां, किसी ने लड़ी जंग तो कोई खूबसूरती से हुई फेमस



जयपुर. भारत और इसकी खूबसूरती हमेशा से आकर्षण का केंद्र रही है। राजसी शान की पहचान इस देश ने सदियों तक कई शाही परिवारों को बढ़ते देखा। इस दौरान कई ऐसी महारानियां भी आईं, जिनकी खूबसूरती और बहादुरी दुनियाभर में चर्चित हुई। देश की 10 महारानियों के बारे में जानकारी दे रहा है।

संयुक्ता
- कन्नौज के राजा महाराजा जयचंद की बेटी संयुक्ता, जिन्हें सन्युक्ता या सनजुक्ता के नाम से भी जाना जाता है।
- इनकी शादी राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान से हुई थी।
- संयुक्ता को उनकी खूबसूरती की वजह से जाना जाता था।
- उनकी सुंदरता के चर्चे इस कदर थे कि पृथ्वीराज ने उनके बारे में सुना तो बिना देखे ही अपना दिल दे बैठे थे।
- जब ये बात संयुक्ता के पिता को पता चली तो उन्होंने अपनी बेटी के लिए एक स्वयंबर करवाया।
- इसमें पृथ्वीराज को नहीं बुलाया गया, लेकिन रानी ने भी स्वयंबर में आए सभी राजकुमारों को छोड़ पृथ्वीराज के पुतले को वरमाला पहनाई।


रानी पद्मिनी
- रानी पद्मिनी चित्तौड़ के राजा रत्नसिंह की पत्नी थी।
- कहा जाता है कि रानी की सुंदर काया की चर्चा उस वक्त सभी की जुबान पर रहती थी।
- जब दिल्ली के शासक अल्लाउद्दीन खिलजी को रानी पद्मिनी की सुंदरता के बारे में पता चला तो उसने चित्तौड़ पर हमला कर दिया।
- इस युद्ध में करीबी 30 हजार सैनिक मारे गए थे। युद्ध के बाद जब अल्लाउद्दीन रानी को हासिल करने पहुंचा तो उन्होंने अपनी लाज बचाने के लिए जौहर प्रथा के तहत सती हो गई।

महारानी गायत्री देवी
- 9 मई 1940 को जयपुर के महाराजा सवाई मानसिंह द्वितीय से गायत्री देवी की शादी हुई थी। वे मानसिंह की तीसरी पत्नी थीं।
- महारानी गायत्री देवी को बाद में राजमाता की उपाधि दी गई।
- 1962 में वे जयपुर लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतरीं और कुल दो लाख 46 हजार 516 वोटों में से एक लाख 92 हजार 909 वोट हासिल कर एक रिकॉर्ड कायम किया।
- महारानी इतनी खूबसूरत थीं कि प्रसिद्ध 'वोग मैगजीन' ने उन्हें दुनिया की दस सबसे खूबसूरत महिलाओं की सूची में शुमार किया था।


सीता देवी
- सीता देवी बड़ौदा घराने की महारानी थीं। 1917 में मद्रास (चेन्नई) में महारानी का जन्म हुआ था।
- महारानी अपनी लग्जीरियस लाइफ और शानो-शौकत के लिए मशहूर थीं।
- उनकी शादी बड़ौदा घराने के प्रताप सिंह गायकवाड़ से हुई थी।
- वे खूबसूरती के साथ-साथ अपने फेशन के लिए भी जानी जाती थीं।
- उनके स्टाइल और खूबसूरती के कारण उन्हें 'इंडियन वालिस सिम्सन' (1936 की सबसे खूबसूरत महिला) भी कहा जाता था।

रानी विजया देवी
- वे रानी विजया देवी युवराज कान्टिरावा नारासिम्हा राजा वाडियार की बेटी थीं।
- उनके भाई का नाम महाराजा जाया चामाराजा वाडियार था।
- उन्होंने लंदन और न्यूयॉर्क के कॉलेज से संगीत की शिक्षा ली थी। इसके साथ उन्हें वीणा बजाने में महारत हासिल थी।
- सन् 1941 में उनकी शादी कोटड़ा-संगानी के ठाकुर से हुई।
- उन्हें अपनी खूबसूरती की वजह से भी देशभर में जाना जाता था।

सीता देवी कपूरथला
- सीता देवी को प्रिंसेस करम के नाम से भी जाना जाता था।
- वे काशीपुर के हिंदू राजा की बेटी थीं। जिनकी शादी कपूरथला के सिख राजा के बेटे करमजीत सिंह के साथ हुई थी।
- कहा जाता है कि वे उस वक्त की सबसे सुंदर रानियों में से थीं।
- 'वोग मैगजीन' ने भी उन्हें दुनिया की सबसे वेल ड्रेस्ड 5 महिलाओं में चुना था।
- 19 साल की इस प्रिंसेस को वोग ने धर्मनिरपेक्ष देवी बताया था।
- इसके साथ वे कई यूरोपियन भाषाएं भी बोल सकती थी।

रानी लक्ष्मीबाई
- रानी लक्ष्मीबाई का जन्म वाराणसी के एक मराठी ब्राहम्ण परिवार में हुआ था। जिनका नाम मणिकर्णिका रखा गया था।
- झांसी के राजा गंगाधर राव से शादी होने के बाद उनका नाम बदल दिया गया।
- उन्हें अपनी बहादुरी और खूबसूरती के लिए जाना जाता था।
- 1857 के गदर में वे अग्रेजों के खिलाफ सबसे बड़ी लड़ाई का हिस्स बनी थीं।
- वे अपने बच्चे को पीठ पर बांधकर अंतिम सांस तक अंग्रेजों से लड़ी थीं।
- इतिहास में इस शहीद रानी को आज भी 'झांसी की रानी' के नाम से याद किया जाता है।


मीराबाई
- मीराबाई राजस्थान की एक हिंदू प्रिंसेस थीं, जिन्होंने अपना पूरा जीवन भगवान कृष्ण के नाम कर दिया था।
- उन्हें आज भी अपनी कविताओं और गानों के लिए जाना जाता है।
- मीराबाई का जन्म राजस्थान के पाली जिले राठौड़ रॉयल फैमिली में हुआ था।
- उनकी शादी मेवाड़ के राजा भोज राज के साथ हुई थी। मीरा की भक्ती की खूबसूरती ने दुनियाभर में उनकी पहचान बनाई।
- कृष्णभक्त आज भी चाव से मीरा के भजन को गाते हैं।

नूर इनायत खान
- नूर, हजरत इनायत खान की बड़ी बेटी थीं। जो की सूफी संगीत के महान गायक थे।
- नूर का जन्म वडोदरा के एक रॉयल फैमिली में हुआ था।
- बेहद खूबसूरत महिला नूर इनायत खान ने दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जासूसी भी की थी।
- इसके साथ वे पहली महिला रेडियों ऑपरेटर भी रहीं। जिन्हें ब्रिटेन की लोगों की मदद करने फ्रांस भेजा गया था।
- महज 30 साल की उम्र में उनकी मौत हो गई थी। नूर के सम्मान में ब्रिटेन डाक टिकट तक जारी कर चुका है।


अक्कादेवी
- अक्कादेवी कर्नाटक के चालुक्या राजवंश की राजकुमारी थीं। इसके साथ उन्हें किशाकांडू की गर्वनर के नाम से भी जाना जाता था।
- कहा जाता है कि उनकी खूबसूरती के कारण ही वे एक अच्छी शासक साबित हुईं।
- उनकी खूबसूरती के कारण ही उन्हें 'गुनादावेदांगी'(खूबसूरती का गुण) की उपमा दी गई थी।
- बता दें कि अक्कादेवी के राज में शिक्षा को सबसे ज्यादा महत्व दिया गया था।


Saturday, 21 May 2016

Required PRODUCER for RADIO ONE PUNE

Required PRODUCER for RADIO ONE PUNE with relevant RADIO Exp ( min 2- 3 years ).CTC 5 LPA Reporting to P.D. Mass com/MBA/Journalism/TV K.R.A’s Increasing Bollywood quotient on the station – Planning, ideating & executing Bollywood campaigns, contests, segments, celeb led elements Ideation & execution of station properties& specials Content support for ROD shows

http://jobmedia2016.blogspot.in/

Friday, 13 May 2016

अजीबोगरीब बीमारी की शिकार हैं ये भाई - बहन, कई सालों से नहीं आई इन्हें नींद


क्वींसलैंड।अगर एक रात ठीक से नींद न आए तो अगला पूरा दिन मानो खराब हो जाता है। सारे दिन उबासी आती है और किसी काम में मन भी नहीं लगता है। मगर ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में एक ऐसा परिवार है जो सालों से सोया ही नहीं है। लेचले और हेले वेब ये दोनों भाई-बहन एक ऐसे परिवार से ताल्लुक रखते हैं जो सालों से जाग रहा है। आखिर क्या इसकी वजह...
दरअसल, इनका परिवार फैटल फैमिलियल इंसोमेनिया (एफएफआई) नाम की एक बीमारी से पीड़ित है, जिसमें व्यक्ति कभी सो ही नहीं पाता है। वैज्ञानिक भी इस बीमारी का आजतक कोई कारण या इलाज ढूंढ नहीं पाए हैं। यह बीमारी एकदम दुर्लभ गिनी जाती है, जिसके बारे में अधिकतर लोग तो जानते ही नहीं है। बता दें कि इन दोनों की पूरी फैमिली इस बीमारी से पीड़ित थी, लेकिन अब इस परिवार में इन दोनों के अलावा कोई नहीं बचा है।
लेचले बताते हैं कि वे ढेरों नींद की गोलियां एकसाथ खाते हैं, उनसे वे मुश्किल से केवल 15 मिनट की नींद ही ले पाते हैं। ज्यादा खाने से शरीर को नुकसान पहुंचता है, इस कारण डॉक्टर्स ने मुझे गोलियां खाने से भी मना कर दिया है। वहीं हेले का कहना है कि ये हमारे लिए बहुत डरावना है, लगता है जैसे धीरे-धीरे हमें कोई मिटा रहा है।